परियोजना

प्रदेश में उद्योगों को बढ़ावा देने हेतु अध्ययन/परियोजना संरचना

प्रदेश में उद्योगों को बढ़ावा देने हेतु अध्ययन/परियोजना की संरचना हेतु परामर्शदाताओं को भुगतान की योजना का शुभारम्भ वित्तीय वर्ष 2014-15 से किया गया जिसके द्वारा वित्तीय वर्ष 2014-15 के अन्तर्गत रू0 10.00 लाख की वित्तीय स्वीकृति निर्गत की गयी थी जिसमें से रू0 3,91,446/- का भुगतान श्री प्रेमप्रकाश बेरिया एवं श्री राजेन्द्र कुमार वर्मा को शासन द्वारा उ0प्र0 भण्डार क्रय नियम/प्रोक्योरमेन्ट मैनुअल बनाने हेतु दिनांक 07.07.2014 से दिनांक 30.11.2014 की अवधि की प्रदत्त सेवाओं के अन्तर्गत रू0 7,34,767/- तथा अवशेष रू0 2,65,533/- की धनराशि 13 परिक्षेत्रीय अपर/संयुक्त आयुक्त उद्योग को क्लस्टर विकास योजनान्तर्गत डी0पी0आर0 बनाने हेतु उपलब्ध कराया गया था। डी0पी0आर0 बनाने हेतु उक्त धनराशि में से वाराणसी मण्डल, आगरा मण्डल, लखनऊ मण्डल, कानपुर मण्डल व जनपद मुरादाबाद की सदुपयोगिता प्राप्त हो गयी है।

वर्तमान वित्तयी वर्ष 2015-16 में प्रश्नगत योजनान्तर्गत रू0 150.00 लाख की धनराशि परामर्शदाताओं को परियोजना संरचना/परामर्शदाताओं को भुगतान हेतु उ0प्र0 सरकार से प्राप्त हुई जिसमें से रू0 23,75,000/- की धनराशि कुल 20 मण्डलों तथा 55 जनपदों को नयी डी0एस0आर0/डी0पी0आर0 बनवाने हेतु आवंटित की गयी है।

आगामी वित्तयी वर्ष 2016-17 में भी योजना का क्रियान्वयन किया जाना प्रस्तावित है।

अल्प संख्यक समुदाय के दस्तकारों की सहायता करने तथा हस्तकला उन्नयन से सम्बन्धित अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की परियोजना अन्तर्गत सहायता योजना

समाज के अल्पसंख्यक समुदाय के दस्तकारों के उत्थान हेतु प्रदेश सरकार द्वारा वर्ष 1984 से अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के अधीनस्थ सामान्य सुविधा केन्द्र (सी0एफ0सी0) तथा प्रशिक्षण-कम-उत्पादन-कम-प्रसार केन्द्र (टी0पी0ई0सी) की स्थापना हेतु उ0प्र0 सरकार द्वारा रू0 38.88 लाख के अनुदान की स्वीकृति प्रदान कर योजना प्रारम्भ की गई थी।

सामान्य सुविधा केन्द्र (सी0एफ0सी0) एवं प्रशिक्षण-कम-उत्पादन-कम-प्रसार केन्द्र (टी0पी0ई0सी0) शिल्पियों के कार्यो को आधुनिक मशीनों/औजारों/उपकरणों के माध्यम से जनपद अलीगढ़ में गृह उद्योग के रूप में चल रहे ताला उद्योग के कारीगरों को ताला उद्योग का आधुनिक तकनीकी प्रशिक्षण प्रदान कर उनकी कार्य दशा में सुधार लाने तथा उनसे सम्बन्धित अन्य उद्योगों आदि को बढ़ावा देने में सहायक सिद्ध हुए है।

योजना का नाम प्रशिक्षण हेतु ट्रेड का नाम प्रशिक्षार्थियों की संख्या पात्रता अवधि
अल्प संख्यक समुदाय के दस्तकारों की सहायता करने तथा हस्तकला उन्नयन से सम्बन्धित अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की परियोजना फिटर-कम-वेल्डर 28 निर्धन शिल्पकारों एवं उनके बच्चों को जिनकी शिक्षा कम से कम कक्षा 8 पास हो 2 वर्ष
मशीनिस्ट 30 2 वर्ष

योजना की विगत वर्षो की प्रगति :-

क्रम सं0 वित्तीय वर्ष प्रगति अभ्युक्ति
1 वर्ष 2012-13

58 प्रशिक्षार्थी

 
2 वर्ष 2013-14

58 प्रशिक्षार्थी

 
3 वर्ष 2014-15

58 प्रशिक्षार्थी

 
4 वर्ष 2015-16 (31.12.2015 तक)

58 प्रशिक्षार्थी

प्रशिक्षणरत

वित्तीय वर्ष 2016-17 में भी योजनान्तर्गत प्रशिक्षण दिया जाना प्रस्तावित है।