निर्यात प्रदर्शन (प्रगति)

उत्तर प्रदेश का लघु उद्योग और निर्यात संवर्धन विभाग प्रदेश से निर्यात के विकास को बढ़ावा देने हेतु नीतियों के नियमन, कार्यक्रमों के डिजाइन तथा परियोजनाएं और योजनाएं के क्रियांवन के लिए उत्तरदायी है।

विभाग का लक्ष्य है कि केंद्रीय सरकार के अन्य विभागों, उत्तर प्रदेश सरकार एवं अन्य सभी हितधारकों के साथ समन्वय करके उत्तर प्रदेश से निर्यात में वृद्धि को बढ़ावा दिया जाए।

विभाग निर्यात के लिए एक सक्षम माहौल बनाने तथा निर्यात इकाइयों की प्रतिस्पर्धात्मकता को बढ़ाने के लिए एक सुविधाकर्ता के रूप में कार्य करता है जिससे यह आद्यमी राज्य के आर्थिक विकास एवं उत्पादक रोजगार में योगदान कर पाएं।विभाग उचित नीतियों को तैयार करके तथा विदेशी व्यापार सुविधा, तकनीकी उन्नयन, विपणन, रसद, उद्यमशीलता के विकास, भौतिक और ज्ञान के बुनियादी ढांचे के विकास आदि के क्षेत्र में सहायता उपायों को डिजाइन / कार्यान्वित करके अपने लक्ष्य को पूरा करने का प्रयास करता है।

निर्यात संवर्धन विभाग, उत्तर प्रदेश के निर्यातकों और उद्यमियों को पारदर्शिता और शिष्टाचार के साथ कुशल और शीघ्र सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए, एजेंसियां, कर्तव्य अनुशासन की भावना में, व्यक्तिगत निर्यातकों / उद्यमियों और उनके संगठनों के अधिकारों को बनाए रखने के लिए कटिबद्ध हैं। विभाग दलों द्वारा व्यक्त की गई निजी व्यावसायिक जानकारी की गोपनीयता को बनाए रखेगा। विभाग लगातार अपने लक्ष्य को पूरा करने के उद्देश्य से, हितधारकों के साथ परामर्श करके नीतियों, कार्यक्रमों और वितरण प्रणालियों की लगातार समीक्षा करेगा।